हमीरपुर: जाइका प्रोजेक्ट के पंप हाउस में चोरी करते 2 युवकों को ग्रामीणों ने रंगे हाथों पकड़ा

  • 10 Jun 2021
  • Reporter: जसबीर कुमार

हमीरपुर के मझोग सुल्तानी पंचायत के गांव बल्ला में जाइका प्रोजेक्ट के पंप हाउस में चोरी करते हुए दो युवकों को ग्रामीणों ने रंगे हाथों धर दबोचा है। पकड़े गए दोनों युवक बिहार के रहने वाले हैं। आरोपित युवक हमीरपुर के झनियारी के पास किराए कमरे में रहते हैं और यहां कबाड़ का काम करते हैं। ग्रामीणों ने दोनों युवकों को पुलिस के हवाले कर दिया है। पुलिस ने घटना के संबंध में मामला दर्ज कर आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है। 

जानकारी के अनुसार बुधवार रात को 5 युवक जाइका प्रोजेक्ट के पंप हाउस का ताला तोड़कर मशीन चुराने का प्रयास कर रहे थे। लेकिन इसी बीच एक राहगीर ने उन्हें चोरी करते देख लिया और ग्रामीणों को इसकी सूचना दी। इसपर ग्रामीणों ने मौके पर पहुंचकर दो युवकों को चोरी करते रंगे हाथों धर दबोचा जबकि 3 अन्य युवक अंधेरे का फायदा उठाकर भागने में सफल रहे। घटना के संबंध में लोगों ने पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलते ही पुलिस ने मौके पर पहुंचकर पकड़े गए दोनों युवकों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। पकड़े गए युवकों ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है और उनके आधार पर पुलिस ने बाकी तीन युवकों को भी झनियारी से पास से गिरप्तार कर लिया है। 

जाइका प्रोजेक्ट के स्थानीय सदस्य रघुवीर ने बताया कि देर रात के समय पांच लोग पंप हाउस के इंर्द गिर्द घूम रहे थे। इस पर शक होने पर ग्रामीणों को सूचना दी और ग्रामीणों ने मौके पर आकर देखा कि पंप हाउस का ताला टूटा हुआ है और चोरी करते हुए रंगे हाथों में युवकों को पकड़ा जबकि तीन युवक भागने मे कामयाब हो गए।

मामले की पुष्टि करते हुए एसएचओ हमीरपुर प्रशांत ठाकुर ने बताया कि मझोग सुल्तानी में जाइका प्रोजेक्ट के तहत लगे पंप हाउस में चोरी कर रहे युवकों को दबोचा है जिस पर पुलिस को सूचना मिलने पर तुरंत मौके पर पहुंचे और दोनों युवको को पकड लिया गया है और पुलिस ने मामला दर्ज कर छानबीन की जा रही है। उन्होंने बताया कि चोरी में संलिप्त पाए गए युवक बिहार के रहने वाले हैं और पुलिस ने धारा 457,380 में मामला दर्ज किया गया है।

गौरतलब है कि इससे पहले करीब तीन महीने पहले भी जाइका प्रोजेक्ट से लाखों रूपये की मशीनरी पर चोरों ने हाथ साफ किया था। और अब फिर से एक बार इस क्षेत्र की रैकी करके चोरों ने अंजाम देने की कोशिश कर रहे थे जिसे ग्रामीणों की सूझबूझ से नाकाम किया गया है।