शिमलाः नागरिक सभा ने टूटू में आए दिन बिजली के गुल रहने पर लिया कड़ा संज्ञान, विभाग को दी आंदोलन की चेतावनी

  • 15 Jun 2021
  • Reporter: पी. चंद, शिमला

शिमला नागरिक सभा ने टूटू में आये दिन बिजली गुल होने पर कड़ा संज्ञान लिया है और आंदोलन को चेताया है। सभा ने बिजली विभाग को चेताया है कि अगर उसने निरन्तर बिजली आपूर्ति न की तो नागरिक सभा कार्यकर्ता बिजली मुख्यालय कुमार हाउस पर धरने पर बैठ जाएंगे और जरूरत पड़ने पर टूटू में चक्का जाम करने से भी गुरेज़ नहीं करेंगे।

नागरिक सभा अध्यक्ष विजेंद्र मेहरा और सचिव कपिल शर्मा ने हैरानी व्यक्त की है कि टूटू  शिमला शहर के सबसे बड़े उपनगरों में से एक है और यहां पर आए दिन बिजली गुल रहना पूरे विभाग की कार्यप्रणाली की पोल खोलता है। टूटू में दो पावर हाउस होने के बावजूद भी शिमला शहर में सबसे ज़्यादा बिजली टूटू में ही गुल होने पर गम्भीर सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने कहा है कि टूटू में हर तीसरे दिन कई-कई घण्टों तक बिजली गुल रहती है। इस कारण जनता को भारी परेशानी होती है। विभिन्न विभागों में कार्यरत कर्मचारी और मजदूर अपनी डयूटी पर समय पर नहीं पहुंच पाते हैं। हर तीसरे दिन ऑनलाइन क्लासेज़ से बच्चों को वंचित होना पड़ रहा है। इस से उनकी पढ़ाई पर काफी गहरा असर पड़ रहा है। जब भी इस संदर्भ में बिजली विभाग के अधिकारियों से बातचीत की जाती है तो वे इसका संतोषजनक जबाव देने के बजाए कभी एक तो कभी दूसरा कारण गिनाकर सारी समस्या से ही अपना पल्ला झाड़ लेते हैं।

विजेंद्र मेहरा ने कहा है कि इस वर्ष जब शिमला शहर में बर्फबारी हुई थी तो शिमला शहर के अन्य किसी भी इलाके में बिजली एक दिन भी बाधित नहीं हुई थी लेकिन टूटू में दिन-दिन तक बिजली आपूर्ति नहीं हुई थी। बिजली विभाग का टूटू की जनता के साथ यह भेदभावपूर्ण रवैया क्यों है। उन्होंने कहा है कि पहले बिजली अधिकारी बिजली गुल होने का कारण टूटू के लिए अलग फीडर न होना बताते थे लेकिन अब जब एक अलग फीडर की व्यवस्था भी हो गयी है तब भी टूटू में बिजली गुल होने में कोई कमी नहीं आयी है।  

पूरे शहर में यह समस्या टूटू में ही क्यों है, अधिकारियों से इसका जनता को जबाव चाहिए। अगर किसी कारणवश कभी बिजली लाइन की रिपेयर की भी आवश्यकता पड़ती है तो उसके लिए बिजली कट 12 बजे के बाद ही लगना चाहिए ताकि बच्चों की ऑनलाइन क्लासेज़ किसी भी तरह प्रभावित न हों। उन्होंने मांग की है कि टूटू की पुरानी केबल को चरणबद्ध तरीके से बदला जाए। उन्होंने बिजली विभाग के अधिकारियों को चेताया है कि अगर उनकी लचर कार्यप्रणाली न बदली तो नागरिक सभा सड़कों पर उतरकर आंदोलन करेगी जिसमें कुमार हाउस का घेराव और टूटू में चक्का जाम भी शामिल होगा।