Follow Us:

आपराधिक गतिविधियों को रोकने के लिए धर्मशाला में विशेष बैठक

मनोज धीमान |

हिमाचल के नॉर्थ जॉन में आपराधिक गतिविधियों और इनको रोकने के लिए दूसरे विभागों के सहयोग के लिए धर्मशाला में समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया। नॉर्थ-जॉन के DIG संतोष पटियाल की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में हर प्रकार के अपराधों पर चर्चा की गई और इन्हें कैसे रोका जाए इस पर भी अधिकारियों से सवाल-जबाव किये गए। बैठक में महिला अपराधों पर विशेष रूप से चर्चा की गई।

वहीं पुलिस थाना में आने वाले हर व्यक्ति की बात सुनने के निर्देश भी पुलिस अधिकारियों को दिए गए। बैठक में जिला कांगड़ा, चंबा और ऊना के पुलिस अधिकारियों ने भाग लिया। संतोष पटियाल ने कहा कि बैठक में अपराधों और अन्य मामलों की समीक्षा की गई। बैठक में महिलाओं के खिलाफ हिंसा के मामलों पर चर्चा की गई है। पूर्व में जिस एरिया में ड्रग पेडलर और ड्रग एडिक्ट अधिक होते थे, उन क्षेत्रों में अब काफी हद तक स्थिति नियंत्रण में है। ड्रग समाज के लिए बहुत खतरनाक एंगल है, जिस पर हम काम कर रहे हैं। नशा निवारण निवारण कमेटियों के माध्यम से लोगों को जागरूक करके नशे के खिलाफ काम किया जा रहा है।

खनन के मामलों में चालान भी बढ़े और जुर्माना भी

डीआईजी ने बताया कि खनन एक्ट में 36 के लगभग विभाग हैं, जिन्हें कार्रवाई का अधिकार है। खनन के मामलों में नार्थन रेंज चालान भी बढ़े हैं, जुर्माना भी बढ़ा है। खनन विभाग का भी ऐसे मामलों में सहयोग लिया जाता है। पुलिस द्वारा ऐसे मामलों में कार्रवाई में इजाफा किया गया है। पुलिस को निर्देश दिए गए हैं कि पुलिस थाना में जो भी व्यक्ति आता है, उसकी बात सुनी जाए, न कि उसे जज किया जाए। जनता का पुलिस पर विश्वास बढ़ेगा तो पुलिस को जनता का सहयोग भी मिलता और जनता का भला भी होता है। सही में देखा जाए तो जनता ही पुलिस की ताकत है।