IGMC में इलाज करवाने आई नाबालिग के साथ छेड़छाड़

  • 20 Jan 2018
  • Reporter: समाचार फर्स्ट

प्रदेश में महिला सुरक्षा लगातार सवालों के घेरे में है। मंडी में महिला नर्स को सहायता नहीं मिल पाने के बाद अब राज्य के सबसे बड़े चिकित्सा संस्थान आईजीएमसी अस्पताल में भी इलाज करवाने आई एक नाबालिग के साथ छेड़छाड़ का मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक गुरुवार रात को आईजीएमसी के फिमेल ऑर्थो वार्ड में एक शातिर ने नाबालिग लड़की के साथ छेड़छाड़ की।

आईजीएमसी अस्पताल में शिमला जिले के रोहड़ू की 10 साल की नाबालिग का इलाज चल रहा है। नाबालिग की बाजू टुटने से उसे आईजीएमसी के फिमेल ऑर्थो वार्ड में भर्ती किया हुआ है। गुरुवार की रात को करीब साढ़े चार बजे जब लड़की की मां शौचालय गई तो एकाएक शातिर अंदर घुस आया।

शातिर ने अंदर आते ही नाबालिगा से अश्लील हरकते करनी शुरू कर दीं। जैसे ही लड़की की मां वार्ड में वापिस आई तो आरोपी वहां से फरार हो गया। जब लोगों को इस बात का पता चला तो चारों ओर अफरा तफरी का महौल हो गया। वहीं, इस घटना ने अस्पताल के सुरक्षा व्यवस्था की भी पोल खोलकर रख दी है।

आरोपी ने मुंह पर बांधा था काला कपड़ा

पीड़ित नाबालिग ने बताया कि जब शातिर वार्ड के अंदर आया तो उसने मूंह को काले कपड़े से ढका हुआ था। ताकि कोई उसकी पहचान न कर पाए। रात के समय जब यह घटना हुई तो इस दौरान कोई भी सुरक्षा कर्मी मौजूद नहीं था, जबकि रात के समय में यहां पर हमेशा ही सुरक्षा कर्मी होते हैं।

आईजीएमसी के प्रधानाचार्य अशोक शर्मा ने बताया कि यह मामला मेरे पास आया है। इसकी पुलिस को शिकायत कर दी गई है। वार्ड में आकर अगर कोई इस तरह की हरकत करता है तो उसे विल्कुल भी बदार्शत नहीं किया जाएगा। मामले को लेकर गंभीरता से छानबीन की जा रही है।