5 महीनों से लापता BSF जवान का नहीं लगा सुराग, बुजुर्ग मां-बाप खा रहे हैं दर-दर की ठोकरें

  • 01 Jul 2018
  • Reporter: समाचार फर्स्ट डेस्क

राजस्थान में  23 जनवरी 2018 को बीएसएफ एक जवान ड्यृटी के समय अचानक लापता हो गया था। जवान रणधीर यादव अलवर जिले के मीरपुर गांव का रहने वाला है। पांच महीने पहले लापता हुए जवान का अभी तक कोई सुराग नहीं लगा है। जवान को तलाशने के लिए उसके बुजुर्ग माता-पिता इधर-उधर भटक रहे है, लेकिन उनकी कोई सुनवाई नहीं हो रही है।

अब बुजुर्ग माता-पिता ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से गुहार लगाई है कि उनके इकलौते बेटे को तलाशने में मदद करें, जिससे उन्हें बुढ़ापे का सहारा मिल सके। जानकारी के अनुसार जवान रणधीर यादव बीएसएफ की आर्टिलरी रेजिमेंट में फरीदकोट में तैनात था और वहां से वह लापता हो गया। इसके बाद बीएसएफ के जवानों ने उसे ढूंढा, लेकिन वह नहीं मिला।

रणधीर यादव के पिता बलबीर यादव और माता सुमित्रा ने कई बार राज्य के गृहमंत्री, अलवर जिला कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक सहित कई लोगों से मुलाकात कर बेटे को तलाशने की गुहार लगाई, लेकिन उन्हें कोई सफलता नहीं मिली। अब माता-पिता ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर बेटे को तलाशने में मदद की गुहार लगाई है।

मिली जानकारी के अनुसार रणधीर यादव को उसकी पत्नी निशा ने तीन जनवरी को तलाक दिया था और वह 23 जनवरी 2018 को लापता हो गया। लापता जवान के परिजनों को आशंका है कि निशा भी रणधीर का अपहरण करवा सकती है।