जानें कौन थी मेरी समरविल

  • 02 Feb 2020
  • Reporter: समाचार फर्स्ट डेस्क

मैरी समरविल का जन्म 26 दिसंबर, 1790 को स्कॉटलैंड के जेडबर्ग में हुआ था। समरविल एक स्कॉटिश विज्ञान लेखक के साथ खगोलशास्त्री भी थी। उन्होंने गणित और खगोल विज्ञान का अध्ययन किया, और कैरोलीन हर्शल के रूप में एक ही समय में रॉयल एस्ट्रोनॉमिकल सोसायटी की पहली महिला सदस्य नामित हुई। मैरी के रिसर्च ने सौर मंडल को समझने में बड़ा योगदान दिया था। उन्होंने जाने-माने ऐस्ट्रोनॉमर जॉन काउच ऐडम्स की Neptune ग्रह को खोजने में मदद दी थी। मैरी ने महिलाओं के राजनैतिक मताधिकारों की वकालत की थी।

वह 1868 में जॉन स्टूअर्ट मिल द्वारा महिलाओं के बराबर अधिकार के लिए दायर की गई याचिका पर साइन करने वाली पहली महिला भी थीं।1834 में आई मैरी की किताब The Connection of the Physical Sciences 19वीं शताब्दी की बेस्ट-सेलिंग किताबों में से एक थी। 26 दिसंबर 1780 को जन्मी मैरी के सम्मान में यूके के इंस्टिट्यूट ऑफ फिजिक्स ने साल 2016 में मैरी समरविल मेडल इंड्रोड्यूस किया. यह पुरस्कार उन वैज्ञानिकों को दिया जाता है जो अपने काम से लोगों की जिंदगी को बेहतर बनाते हैं।

गूगल ने आज मैरी समरविल के सम्मान में डूडल बनाया है। गूगल डूडल में मैरी समरविल कुछ लिखती हुईं दिख रही हैं. स्कॉटिश साइंटिस्ट मैरी समरविल ने विज्ञान के क्षेत्र में कई अहम योगदान दिए. 1826 में आज ही के दिन फिजिक्स में किए गए उनके एक्सपेरिमेंट पेपर को यूके के सम्मानित नेशनल अकैडमी ऑफ साइंस की The Royal Society of London ने पढ़ा था. मैरी पहली महिला थीं जिनका रिसर्च पेपर दुनिया के सबसे पुराने साइंस पब्लिकेशन Philosophical Transactions में पब्लिश किया गया। मैरी के रिसर्च ने सौर मंडल को समझने में बहुत बड़ा योगदान दिया था। उन्होंने जाने-माने ऐस्ट्रोनॉमर जॉन काउच ऐडम्स की Neptune ग्रह को खोजने में मदद दी थी।