अनुराग ठाकुर ने कारगिल विजय दिवस पर भारतीय सेना के शौर्य को किया नमन

  • 26 Jul 2020
  • Reporter: नवनीत बत्ता

केंद्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट अफ़ेयर्स राज्यमंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने कारगिल विजय दिवस की 21 वीं वर्षगांठ पर कारगिल युद्ध में शहीद हुए सैनिकों को श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए विजय दिवस को भारतीय सेना के शौर्य का प्रतीक बताया है। उन्होंने कहा कि विजय दिवस हमारे वीर जवानों की अदम्य साहस और शौर्य की गौरवगाथा है। आज का दिन 1999 का वह दिन याद दिलाता है जब पाकिस्तानी सेना नापाक इरादे लेकर भारतीय सीमा में दाख़िल हुई थी,और हमारे जवानों ने उस मुश्किल घड़ी में पाकिस्तानी सेना को करारा जवाब देते हुए उन्हें पीछे खदेड़ दिया।

उन्होंने कहा कि देश के विभिन्न प्रांतों के सैनिकों के साथ हिमाचल के जवानों ने भी इस कारगिल युद्ध में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया और मां भारती की सुरक्षा में अपने प्राणों की आहुति दे दी। इस लड़ाई में हिमाचल के अमर सपूत परमवीर चक्र विजेता स्व. कैप्टन विक्रम बत्रा और संजय कुमार ने अदभुत पराक्रम का परिचय देते हुए देश और दुनिया में वीरभूमि हिमाचल प्रदेश का मान बढ़ाया। देश कैप्टन सौरभ कालिया और हिमाचल के 52 जवानों की शहादत को कभी नहीं भूल सकता। मैं उन सभी जवानों को नमन करता हूं जिन्होंने देश रक्षा में अपने प्राण देकर भारत को विजय दिवस मनाने का अवसर दिया।सभी देशवासियों को कारगिल विजय दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं।

अनुराग ठाकुर ने कहा कि वीरभूमि हिमाचल के कैप्टन विक्रम बत्रा, कैप्टन सौरभ कालिया जी समेत कारगिल वॉर के सभी हीरो देश के करोड़ों युवाओं सदियों तक भारत मां की रक्षा के लिए प्रेरित करते रहेंगे।‬कारगिल विजय दिवस भारतीय सेना के साहस, शौर्य और स्वाभिमान को विश्व भर में गौरवान्वित करने की स्वर्णिम तिथि है।‬ भारतीय सेना देश का गौरव है और जब भी देश को ज़रूरत पड़ी है हमारे जवानों ने अपना लहू बहा कर देश की रक्षा की है। कारगिल की लड़ाई के दौरान जब हमारे वीर जवान भारत मां की रक्षा के लिए अपनी जान पर खेल रहे थे उस समय सैनिकों की हौसला अफ़्जाई के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, प्रेम कुमार धूमल और ठाकुर गुलाब सिंह सीमा पर मौजूद थे।