गाड़ियों की बढ़ी हुई कीमतों से होगा नए साल का आगाज, ग्राहकों की जेब पर पड़ेगा बोझ

  • 31 Dec 2018
  • Reporter: समाचार फर्स्ट डेस्क

साल 2019 का आगाज गाड़ियों की कीमत बढ़ाकर किया जा रहा है। इस साल आपको कार खरीदने के लिए ज्यादा जेब ढीली करनी पड़ सकती है। क्योंकि ज्यादातर कंपनियां नए साल के आगाज के साथ लेकर आई हैं कार की कीमतों में बढ़ोतरी।

जापान की वाहन बनाने वाली कंपनी टोयोटा की भारतीय इकाई टोयोटा किर्लोस्कर मोटर एक जनवरी 2019 से अपने वाहनों की कीमतों में 4% तक की वृद्धि करने जा रही है। कंपनी ने कहा है कि रुपये में गिरावट से उसकी प्रॉडक्शन लागत बढ़ रही है, जिसके चलते कीमतों में बढ़ोतरी करने का निर्णय किया गया है। निसान इंडिया ने भी अपने वाहनों की कीमतों में चार प्रतिशत तक की वृद्धि का ऐलान किया है। कंपनी ने इसके पीछे वैश्विक बाजार में वस्तुओं के दामों में बढोतरी और मुद्रा विनिमय दर का अंतर मुख्य कारण बताया।

1 जनवरी 2019 से फोर्ड की कारों की कीमत 2.5 प्रतिशत तक बढ़ा दी जाएगी। कंपनी ने इसके पीछे कच्चे माल की कीमतें बढ़ने और रुपये में उतार-चढ़ाव का हवाला दिया। टाटा मोटर्स की कीमतों में 40,000 रुपये तक की वृद्धि होने के संकेत हैं कंपनी ने कहा है, कि बाजार की बदलती परिस्थितियों, लागत में बढ़ोतरी के कारण मूल्य वृद्धि आवश्यक हो गई है। होंडा भी भारत में अपनी गाड़ियों को महंगी करने जा रहा है। हालांकि कंपनी ने अभी तक  बढ़ोतरी को लेकर कोई घोषणा नहीं की है। कि कितनी कीमत बढ़ाई जाएगी।

रेनो ने नए साल पर अपनी कार की कीमतों में 1.5 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी करने की घोषणा की है। जिसकी वजह बढ़ती मैन्युफैक्चरिंग लागत और डॉलर के मुकाबले रुपये का कमजोर होना है। हुंडई ने अपनी कारों को जनवरी 2019 से 30,000 रुपये तक महंगी करने की घोषणा की है। जिससे कंपनी बढ़ती लागत से पड़ने वाले बोझ को कम करना चाहती है। देश की सबसे बड़ी कंपनी मारुति सुजुकी अपनी कारें जनवरी से महंगी करने जा रही है। जिसकी अधिकारिक घोषणा जल्द की जाएगी।