हमीरपुर: मेडिकल कॉलेज पर 'क्रेडिट-वॉर' तेज़, कांग्रेस ने बीजेपी पर लगाए देरी का इल्जाम

  • 08 Jun 2018
  • Reporter: नवनीत बत्ता, हमीरपुर

लोकसभा चुनाव दस्तक दे चुका है। ऐसे में हमीरपुर मेडिकल कॉलेज को लेकर छिड़ा 'क्रेडिट वॉर' लंबा चलने वाला है। कांग्रेस के नेताओं ने एक बार फिर बीजेपी पर मेडिकल कॉलेज का क्रेडिट हथियाने का आरोप लगाया है। शुक्रवार को हमीरपुर में कांग्रेस जिला अध्यक्ष नरेश ठाकुर, विधायक इंद्रदत्त लखनपाल, विधायक राजेंद्र राणा, पूर्व विधायक अनीता वर्तमा समेत तमाम पदाधिकारियों ने इस मुद्दे पर बीजेपी को घेरा।

कांग्रेस का कहना है कि मेडिकल कॉलेज की सारी कवायद उनके पीसीसी अध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू ने की। कांग्रेस का आरोप है कि बीजेपी ने क्रेडिट लेने के लिए जान-बूझकर मेडिकल कॉलेज के काम में 4 साल तक रोड़े अटकाए रखा। मेडिकल कॉलेज के प्रोग्रेस में देरी के लिए बीजेपी जिम्मेदार है। 

कांग्रेस के नेताओं का कहना है कि मेडिकल कॉलेज को पूर्व की यूपीए सरकार में 4 मार्च 2014 को सुखविंदर सिंह सुक्खू ने मंजूर कराया था। उस वक्त केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री गुलाम नबी आजाद थे। सुक्खू ने तीन बार उनसे दिल्ली में मुलाकात की। इस दौरान चंबा और नाहन के साथ-साथ यहां के भी मेडिकल कॉलेज की अधिसूचना जारी की गई। इसके लिए 206 करोड़ रुपये का बजट भी स्वीकृत कराया गया। इसमें 186 करोड़ केंद्र और 20 करोड़ रुपये राज्य सरकार को देने थे। 24 एकड़ की जगह भी चिन्हित की गई। लेकिन बाद में बीजेपी की सरकार बनी और उन्होंने इसे 4 साल तक ठंडे बस्ते में रखा।