विशेषज्ञ डॉक्टर ने बढ़ाई मरीज़ों की लाइफलाइन, गले के ट्यूमर का सफल इलाज

  • 14 Sep 2018
  • Reporter: डेस्क

फोर्टिस अस्पताल कांगड़ा में गले, कान और मुंह की हर चुनौतिपूर्ण बीमारी का एडवांस मकनीक द्वारा सफल उपचार किया जा रहा है। चाहे गले के ट्यूमर का उपचार हो या कान के फटे पर्दे का या फिर टौंसिल का, ईएनटी सर्जन डॉक्टर जफर हर तरह की बीमारी का बेहतरीन उपचार देने में हुनरमंद हैं।

हाल ही में उन्होंने 45 वर्षीय महिला के गले में बनी थायरायड ग्रंथी (ट्यूमर) का सफल आप्रेशन कर मरीज की लाइफलाइन को मजबूत कर दिया। इस गांठ की वजह से उन्हें खाने-पीने और निगलने में बहुत अधिक परेशानी हो रही थी और यह गांठ दिन-ब-दिन बढ़ रही थी। जगह-जगह से दवाइयां खाने से वह तंग आ चुके थे, इसके बावजूद उनका मर्ज ठीक होने की बजाय और अधिक बढ़ रहा था।

जब फोर्टिस कांगड़ा के ईएनटी स्पेशलिस्ट डॉक्टर बेग ने उनका एफएनएसी और सोनोग्राफी टेस्ट करवाया, तो पता चला कि उनके गले के ट्यूमर की स्थिति ऐसी बन चुकी थी। गले में कैंसर होने का भी खतरा उत्पन्न हो गया था और इसका एकमात्र उपचार आपे्रशन ही रह गया था। डॉक्टर ने मरीज को जल्द से जल्द अस्पताल में भर्ती होने की सलाह दी, जिसके बाद डाक्टर ने अपनी टीम के साथ मरीज के गले के ट्यूमर (थायरायड ग्रंथी) की गांठ का आप्रेशन किया। आप्रेशन से पहले जो मरीज खाने-पीने औऱ निगलने की समस्या से जूझ रहा था वह आप्रेशन के महज दो-तीन घंटे बाद से ही सामान्य रूप से खाने-पीने लग पड़ा।

महज तीन दिन की डॉक्टरी देख-रेख के बाद मरीज को अस्पताल से छुटटी दे दी गई। अस्पताल से छुट्टी के बाद मरीज पूरी तरह से स्वस्थ है। डॉक्टर ने कहा कि फोर्टिस अस्पताल कांगड़ा में उन्नत लीगासुर तकनीक के साथ पैरोटिड सबमंडिब्यूलर ग्रंथी, थायरॉयड, लारेंक्स इत्यादि ट्यूमर एवं गर्दन ट्यूमर का उपचार किया जाता है।फोर्टिस कांगड़ा में सर्जरी के दौरान इस तकनीक से उपचार के चलते बहुत कम रक्त हानि और दर्द रहित होता है।