नयना देवी: धूमधाम से संपन्न हुए श्रावण अष्टमी नवराते, 4 लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने मां के चरणों में लगाई हाजरी

  • 10 Aug 2019
  • Reporter: सुनिल ठाकुर, बिलासपुर

विश्व विख्यात शक्ति पीठ श्री नयना देवी में श्रावण अष्टमी नवरात्रि आज यज्ञ की पूर्णाहूती के साथ बड़ी धूमधाम के साथ संपन्न हो गए। मेला समाप्ति के उपलक्ष्य पर एडीएम बिलासपुर मेला अधिकारी विनय धीमान, मंदिर न्यास के अध्यक्ष सुभाष गौतम, मेला अधिकारी हुसन चंद ने हवन यज्ञ किया और पूर्णाहुति डाली । नवरात्रों में लगभग चार लाख से ज्यादा श्रद्धालुओं ने माता जी के दर्शन किए । पूरे नवरात्रों के दौरान तेज बरसात के बावजूद श्रद्धालुओं का उत्साह देखते ही बनता था और बारिश भी आस्था के सैलाब को नहीं रोक पाई। हर रोज श्रद्धालुओं ने भारी संख्या में मां के दरबार में हाजिरी लगवाई ।

प्रदेश सरकार के दिशा-निर्देशों से प्रशासन और पुलिस ने मेला के दौरान बढ़िया व्यवस्था की। श्रद्धालुओं की सुरक्षा और सुविधा का पूरा ध्यान रखा गया। सभी विभागों के द्वारा बिजली पेयजल यातायात लोक निर्माण विभाग  चिकित्सा विभाग के द्वारा श्रद्धालुओं की सुविधा हेतु छोटी-मोटी कमियों को छोड़कर अच्छे प्रबंध किए गए । इस बार भी मेला के दौरान कानून व्यवस्था पूरी तरह से सुचारु रही और किसी भी अप्रिय घटना का समाचार प्राप्त नहीं हुआ। मेला के दौरान जहां पर एडीएम बिलासपुर विनय चंदेल ने मेला अधिकारी का कर्तव्य पूर्ण निष्ठा से निभाया। वहीं वह जिलाधीश बिलासपुर का कार्यभार भी संभालते रहे । कभी वह बिलासपुर तो कभी माता नयना देवी के दरबार में दिन-रात श्रद्धालुओं की सुविधा हेतु डटे रहे।

 इसके अलावा मंदिर न्यास के अध्यक्ष सुभाष गौतम और मंदिर अधिकारी हुसन चंद् भी मेला के दौरान व्यवस्था बनाए रखने में अपनी अहम भूमिका अदा की। वह भी समय-समय पर मंदिर क्षेत्र का निरीक्षण करते रहे और कर्मचारी को आवश्यक दिशा निर्देश देते रहे। जबकि मेला के दौरान मेला पुलिस अधिकारी भागमल और सहायक मेला पुलिस अधिकारी संजय शर्मा श्रद्धालुओं की सुविधा हेतु डटे रहे। हालांकि जिला पुलिस अधीक्षक बिलासपुर दीक्षा वर्मा भी समय-समय पर माता नयना देवी के दरबार में दौरा करती रहीं और कानून व्यवस्था का जायजा लेती रहीं। मेला के दौरान के दौरान लोक निर्माण विभाग की भूमिका अहम रही और लोक निर्माण विभाग के सहायक अभियंता अच्छर सिंह और कनिष्ठ अभियंता राजेंद्र ठाकुर ने जब भी कोई रास्ता बंद हुआ जेसीबी मसीन लगाकर तुरंत उस पर यातायात बहाल करवाया और श्रद्धालुओं को सुविधाएं प्रदान की।  हालांकि आज पूर्णाहुति के साथ हवन यज्ञ के साथ मां का श्रावण अष्टमी नवरात्रा धूमधाम के साथ संपन्न हो गया ।