महंगाई और भ्रष्टाचार के दलदल में डूबी जयराम सरकार: कौल सिंह ठाकुर

  • 20 Sep 2020
  • Reporter: बीरबल शर्मा

मंडी के द्रंग में जनसभा के दौरान पूर्व मंत्री ने प्रदेश सरकार के साथ-साथ केंद्र की मोदी सरकार पर भी जमकर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि जब केंद्र में यूपीए की सरकार थी उस वक्त गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को 2014 में लोकसभा चुनावों में प्रधानमंत्री का चेहरा बीजेपी ने घोषित किया था, उस वक्त मोदी ने देश भर में मंहगाई को लेकर झूठा प्रचार किया था। उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार के एक वक्त डॉलर की कीमत 58 थी तो मोदी को वह बहुत अधिक लगती थी लेकिन वर्तमान में 1 डॉलर की कीमत 74 रूपये हुई है। अब क्यों डॉलर की याद आती है ?

इसी तरह डीजल पहली बार पैट्रोल की कीमत को पीछे छोड़ गया। मोदी की बीजेपी सरकार ने देश के युवाओं को बेरोजगारी ही बेरोजगारी दी है। मोदी सरकार में ऐसा पहली बार देखने को मिला है कि -23.9 प्रतिशत दुनियां भर के देशों से नीचे हमारे देश की अर्थव्यवस्ता आ चुकी है। प्रदेश में मुखिया जय राम ठाकुर मंडी जिला से पहली बार मुख्यमंत्री बने। इनसे उम्मीद जगी थी कि मंडी जिला विकास के मामले में गति पकड़ेगा। लेकिन मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर महज अपने चुनाव क्षेत्र तक सीमित रहे। दूसरे चुनाव क्षेत्र में कोई  विकास कार्य नहीं कर पा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार में भ्रष्टाचार चरम सीमा पर पहुंच चुका है। जलशक्ति विभाग में बिना टेंडर किए 175 करोड़ रूपये के बड़े डाय बाली पाइपें खरीदी गई हैं। कोरोना काल मे स्वास्थ्य विभाग में  करोड़ों के घोटाले हुए हैं । सरकार भ्रष्टाचार के सभी मामलों पर पर्दा डाल रही है। किसी के खिलाफ कोई कार्रवाई अब तक नहीं हुई है। बल्कि भ्रष्टाचार के मामलों को रफादफा करने में प्रदेश सरकार जुटी हुई है |

उन्होंने केंद्र सरकार पर भी महंगाई और भ्रष्टाचार का आरोप जड़ा। केंद्र सरकार सरकारी संस्थाओं का निजीकरण कर देश को खतरे में डाल रही है। महंगाई से आम लोगों का जीवन दूभर हो गया है। प्रधानमंत्री मोदी ने हर वर्ष दो करोड़ नौकरियां देने का वादा किया था। लेकिन आज करोड़ों लोगों का रोजगार छीना गया है। आज प्रदेश सरकार की लापरवाही के कारण कोरोना संक्रमण बढ़ता जा रहा है। कई बेकसूर लोगों व स्वास्थ्य कर्मियों के साथ डॉक्टरों की मौतें भी हो रही हैं। रोजाना एक लाख के करीब मामले देश में कोरोना वायरस से संक्रमित के मामलें सामने आ रहे हैं।