शिमलाः युवा कांग्रेस और NSUI ने DC ऑफिस के बाहर मुंह और बाजू में काली पट्टी बांधकर किया धरना प्रदर्शन

  • 01 Mar 2021
  • Reporter: पी. चंद, शिमला

हिमाचल प्रदेश युवा कांग्रेस अध्यक्ष नेगी निगम भंडारी और एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष छतर सिंह ठाकुर के नेतृत्व में आज कांग्रेस कार्यालय राजीव भवन से जिलाधीश कार्यालय तक विधानसभा परिसर में हुए घटनाक्रम को लेकर विरोध प्रदर्शन किया। उन्होंने जिलाधीश के कार्यालय के बाहर मुंह और बाजू में काली पटटी बांधकर जोरदार धरना प्रदर्शन किया गया। इसके बाद उन्होंने महामहिम राज्यपाल को जिलाधीश शिमला के माध्यम से एक ज्ञापन सौंपा गया। हिमाचल प्रदेश युवा कांग्रेस और एनएसयूआई ने पिछले दिनों विधानसभा सत्र की शुरूआत में आपके अभिभाषण के दौरान सरकार की विफलताओं को उजागर करने के लिए विपक्षी दल कांग्रेस के विधायकों द्वारा अपने संवैधानिक अधिकारों का प्रयोग करते हुए विरोध प्रदर्शन और आप से मिल कर अपनी बात रखने के दौरान हुए घटनाक्रम पर हिमाचल प्रदेश युवा कांग्रेस आपके समक्ष इस ज्ञापन के माध्यम से अपनी बात रखना चाहती है।

महामहिम, ये पूरा घटनाक्रम मीड़िया के सामने आपकी मौजूदगी में विधानसभा परिसर में हुआ, जिसमें कांग्रेस के विधायकों ने जब अपनी बात आपसे मिलकर रखना चाही तो बड़ी चालाकी से सरकार ने उसे एक धक्का मुक्की के माहौल में तबदील कर दिया और संवैधानिक पद पर आसीन विधानसभा के उपाध्यक्ष हंस राज ने अपने पद के उतरदायित्व और गरिमा को नजर अंदाज करते हुए एक बाहुबलि की तरह व्यवहार किया और विपक्षी विधायकों के साथ धक्का मुक्की की जो कि सबूत के तौर पर हिमाचल के सभी बडे मीड़िया हाऊस के कैमरों में कैद है। हद तो तब हो गई जब विधानसभा अध्यक्ष ने भी अपने संवैधानिक पद का गलत इस्तेमाल कर कांग्रेस के पांच विधायकों को एक तरफा कार्यवाही करते हुए निलंबित कर दिया और इस पूरे मामले में संलिप्त रहे विधानसभा के उपाध्यक्ष और भाजपा के अन्य विधायकों पर कोई कार्यवाही अमल में नहीं लाई गई। साथ ही सरकार के इशारे पर कांग्रेस के विधायकों पर एफआईआर भी दर्ज की गई।

महोदय, कांग्रेस पार्टी एक जिम्मेदार राजनीतिक दल हैं जो हमेशा से प्रदेश के सब से बडें संवैधानिक पद पर बैठे आप जैसे महानुभावों का सम्मान करती रही है और महामहिम महोदय हम आप से उम्मीद भी रखतें है कि आप इस पक्षपातपूर्ण और एकतरफा कार्यवाही के खिलाफ हमारी बात को गम्भीरता से लेंगे और विधानसभा उपाध्यक्ष और भाजपा के अन्य मंत्री व विधायक जो इस पूरे मामले में संलिप्त थे उन पर भी कार्यवाही अमल में लाएंगे और हिमाचल प्रदेश में न्यायिक व्यवस्था की स्थापना का उदारण पेश करेंगे। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश युवा कांग्रेस उक्त ज्ञापन के माध्यम से आपसे अनुरोध करती है कि इस प्रकरण पर कड़ा संज्ञान लेते हुए इसमें शामिल विधानसभा उपाध्यक्ष, भाजपा विधायकों और मंत्रियों के विरूद्व नियमानुसार कार्यवाही करने के आदेश देकर लोकतंत्र की रक्षा करेंगे।