कांग्रेस के लिए बड़ा झटका है पुष्प राज शर्मा का हारना

  • 08 Apr 2021
  • Reporter: बीरबल शर्मा, मंडी

मंडी नगर निगम के चुनावों में पहला उल्टफेर वार्ड नंबर तीन पड्डल से उस समय देखने को मिला जब 1985 से लगातार नगर परिषद में खुद और पत्नी को पार्षद के तौर पर जीत हासिल करवाते हुए पूर्व अध्यक्ष पुष्प राज शर्मा को भाजपा के युवा चेहरे सोमेश उपाध्याय ने हरा दिया। पुष्प राज शर्मा वीरभद्र सिंह के खासमखास माने जाते हैं। नगर परिषद के अध्यक्ष रहते हुए विकास की एक बड़ी गाथा उन्होंने लिखी थी। वह एक बार अपना पड्डल वार्ड अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित हो जाने पर दूसरे वार्ड में जाकर भी विजय हासिल कर चुके हैं।

पड्डल वार्ड के महिला के लिए आरक्षित हो जाने पर उन्होंने अपनी पत्नी नीलम शर्मा को जितवा कर नगर परिषद का अध्यक्ष बना दिया था। पड्डल में पिछले 35 सालों से उनका एकछत्र शासन था जो युवा चेहरे सोमेश उपाध्याय ने खत्म कर दिया। यूं उन्हें मंडी नगर का विकास मसीहा भी कहा जाता रहा है मगर पंडित सुख राम और अनिल शर्मा से छत्तीस का आंकड़ा रहने के चलते वह कांग्रेस में शीर्ष तक नहीं जा पाए। अभी भी यह माना जा रहा है उनकी हार में पंडित परिवार का भी योगदान रहा है।