संदिग्ध हालात में मिले थे युवकों के शव, कार्रवाई न होने पर सरकार पर बिफरी कांग्रेस

  • 20 Oct 2018
  • Reporter: सुनिल ठाकुर, बिलासपुर

बिलासपुर और ऊना के युवकों की संदिग्ध हालातों में मिले शवों के मामले में कार्रवाई न होने पर कांग्रेस ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। सर्किट हाऊस में कांग्रेस ने रैली के रूप में डीसी ऑफिस तक सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए रोष प्रकट किया।

कांग्रेस ने बिलासपुर डीसी ऑफिस में डीसी की गैर मौजूदगी में एसी टू डीसी के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा और मामलों को सुलझाने की मांग की। बंबर ठाकुर ने कहा कि बद्दी में रोजगार कमा रहा भलस्वाए पंचायत का युवक प्रशांत कुमार का शव कालका- रेलवे स्टेशन पर बोगी के स्लीपर पर संदिग्ध परिस्थितियों में मिली। लेकिन मामले की अभी तक कोई सही तरीके से जांच नहीं हुई है।

बंबर ठाकुर ने आरोप लगाया कि पुलिस इस मामले को दबाने का प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि भटेड़ पंचायत का युवक लक्की भी संदिग्ध परिस्थितियों में गायब हुआ और उसका शव भी सड़क किनारे मिला। उन्होंने कहा कि इस मामले को दबाने के लिए इस प्रकरण को आत्महत्या करार दिया जा रहा है। बंबर ठाकुर ने बताया कि सलणु गांव की महिला कल्पना देवी की भी ससुराल में संदिग्ध परिस्थितियों में मारी गई। लेकिन इन मामलों में पुलिस प्रशासन ने कोई ठोस कार्यवाही नहीं की।

इसी प्रकार ऊना जिला के सुमित कुमार की मौत को भी आत्महत्या करार देकर मामले को दबाने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि हिमाचल में कानून व्यवस्था का जनाजा निकल चुका है जबकि आम आदमी की कहीं भी कोई सुनवाई नहीं हो रही है। उन्होंने चेतावनी दी है कि यदि इन हत्याओं के मामलों को शीघ्र सुलझाया न गया तो शीघ्र ही कांग्रेस सड़कों पर उतरकर विशाल आंदोलन का रास्ता अख्तियार करेगा।