सरकार के खिलाफ शिमला में कांग्रेस का हल्ला बोल, पार्टी के खिलाफ कार्य करने वाले नेता होंगे बाहर

  • 14 Nov 2019
  • Reporter: पी. चंद, शिमला

केंद्र और प्रदेश सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ कांग्रेस ने वीरवार को शिमला में रोष रैली निकाली । कांग्रेस प्रभारी रजनी पाटिल, कांग्रेस किसान सेल प्रमुख और हिमाचल पर्यवेक्षक नाना पटोले,  नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री और प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप राठौर की अगुवाई में जिलेभर से आए पार्टी कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस कार्यालय से लेकर डीसी ऑफिस तक रोष रैली निकालकर विरोध प्रदर्शन किया। और जयराम सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए इस सरकार को सबसे असफल सरकार करार दिया। इससे पहले देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल लाल नेहरू को याद करते हुए कांग्रेस पार्टी ने उन्हें पुष्पांजलि अर्पित की। 10 दिन तक चले कांग्रेस के सरकार विरोधी आंदोलन का आज समापन हो गया।

हिमाचल प्रभारी रजनी पाटिल ने कहा कि बीजेपी सरकार बेवजह के मुद्दों की तरफ जनता का ध्यान भटकाकर महंगाई को कम करने के लिए कोई कारगर नीति नहीं बना रही है। घरेलू उपयोग आने वाले प्याज, पैट्रोल, गैस की कीमतों को कम करने के लिए जयराम सरकार चुप्पी साधे हुए है। जबकि जनता बुरी तरह से पिस रही है। धर्मशाला में इन्वेस्टर मीट नही बिग फ्लॉप शो हुआ है। मुख्यमंत्री प्रदेश के लोगों की आंखों में धूल झोंकने की कोशिश कर रहे हैं। ये सरकार वीरभद्र सिंह के काम को भी आगे नहीं बढ़ा पाई है 2022 में कांग्रेस पार्टी की सरकार बनना तय है। कांग्रेस आपसी लड़ाई से बाहर निकले जिन लोगो को कांग्रेस पार्टी ने सब कुछ दिया ऐसे नेता यदि पार्टी के ख़िलाफ़ काम करेंगे तो ऐसे विश्वासघात करने वालों को बाहर का रास्ता दिखाया जाएगा।

नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने कहा की मोदी हिमाचल में आए तो औधोगिक पैकज क्यों नही दिया गया। जयराम सरकार पीएम के समक्ष प्रदेश का पक्ष भी नहीं रख पाई। प्रदेश सरकार हर मोर्चे पर विफ़ल रही है। सरकार एनएच, रेल लाइन और हवाई लाइन बनवाने में नाकाम साबित हुई है। अगर बीजेपी सरकार ने इस तरफ समय रहते ध्यान नहीं दिया तो कांग्रेस चुप नहीं बैठेगी। बल्कि अपने प्रर्दशनों को जारी रखेगी। उन्होंने कहा जिस तरह का माहौल प्रदेश में बन चुका है उसको देखकर लग रहा है कि अब इस सरकार को सत्ता में रहने का कोई अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा इन्वेस्टर मीट के नाम पर प्रदेश की जनता के छलावा हुआ है। उसका आने वाले समय में जवाब दिया जाएगा। ये कांग्रेस वह कांग्रेस है जो जय राम सरकार को सत्ता से बाहर का रास्ता दिखाएगी।

नाना पटोले ने बीजेपी के खिलाफ चलाए आंदोलन की सराहना की ओर कहा कि बीजेपी ने सत्ता में आने के बाद देश को बड़े बड़े सपने दिखाए वह धराशायी हो गए। भारत 2014 में बेरोजगारी दर 3.4 फ़ीसदी थी जो 2019 में बढ़कर 8.1 हो चुकी है। जो पिछले 45 वर्षों में सर्वाधिक हैं। केन्द्र के नोटबन्दी के फ़ैसले के बाद 90 लाख लोगों ने अपना रोजगार खोया। पिछले छः वर्षो में भारतीय अर्थव्यवस्था 5 फीसदी से भी कम हो गई जो कि 2014 में 7.4 फ़ीसदी थी। बैंकिंग सेक्टर की हालत ख़स्ता है एनपीए बढ़ता जा रहा है नीरव व चौकसी जैसे लोग पैसा खाकर विदेश भाग रहे हैं। रुपया निरन्तर गिर रहा है, पेट्रोलियम पदार्थों के दाम बढ़ रहे है।

उधर प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप राठौर ने कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था बिगड़ चुकी है। नशे से युवा पीढ़ी बर्बाद हो रही है। बदले की भावना से भाजपा काम कर रही है। कांग्रेस के नेताओ को प्रताड़ित किया जा रहा है। गांधी परिवार से एसपीजी को वापिस लेने के बाद उनकी सुरक्षा कम हुई है। यदि कांग्रेस के नेताओ को कुछ हुआ तो पार्टी केंद्र सरकार को बख्शेगी नही। उन्होंने कहा कि आंदोलन का ये कारवां चम्बा से शुरू हुआ था जो प्रदेश भर के बाद आज शिमला में खत्म हुआ। जिसमें लोगों का आपार जनसमर्थन मिला। राम मंदिर का मुद्दा अब खत्म हो चुका है। आने वाले समय मे देश मे परिवर्तन की बयार दिख रही है।