'मोदी राज में सभी सेक्टर खतरे में आए, नोटबंदी एक नासमझ फैसला'

  • 08 Nov 2019
  • Reporter: ग़ौरव

महंगाई, बेरोजगारी सहित कई मुद्दों पर कांग्रेस का देशव्यापी आंदोलन हिमाचल में भी जारी है। शुक्रवार को कांग्रेस ने कुल्लू में धरना प्रदर्शन किया औऱ केंद्र तथा प्रदेश सरकार के खिलाफ़ नारेबाज़ी की। कांग्रेस प्रभारी रजनी पाटिल की अगुवाई में अख़ाड़ा बाज़ार से लेकर डीसी ऑफिस तक रोष रैली निकाली गई।

कांग्रेस ने भाजपा सरकार को हर मुद्दों पर खूब घेरा। कांग्रेस की प्रदेश प्रभारी रजनी पाटिल ने कहा की नरेंद्र मोदी ने नोटबन्दी कर काला धन तो वापस नहीं किया, लेकिन गरीबों को परेशानी में डाल दिया है। गरीबी रखने का काम किया है। जीएसटी से व्यापारियों को परेशानी में डाल दिया है। पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने इस प्रदेश को बचाया है। भाजपा से जनता खफा हो गई है। 2022 में कांग्रेस की सरकार बनेगी।

वहीं, प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप राठौर और विपक्ष के नेता मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि इन्वेस्टर मीट के बहाने प्रदेश को बाहरी लोगों के हाथों बेचने का इंतजाम किया जा रहा है। प्रदेश में लोगों की जमीन को बाहरी लोगों को दिया जा रहा है जिससे राज्य में बाहरी लोगों का वर्चस्व कायम हो जाएगा। उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री प्रदेश को अपना दूसरा घर मानते हैं लेकिन चुनावों के बाद वे दूसरी बार प्रदेश का रूख कर चुके हैं जिससे यहां के लोगों को उम्मीद थी कि मोदी प्रदेश को कोई बड़ी घोषणा करेंगे और प्रदेश को विशेष औद्योगिक पैकेज दिया जाएगा परंतु ऐसा कुछ नहीं हुआ और न ही प्रदेश के मुख्यमंत्री प्रदेश के लिए विशेष पैकेज की मांग कर पाए।