जिला अध्यक्ष रोहिणी ने सीएम से मुलाकात कर की सड़क निर्माण की मांग

  • 10 Jul 2019
  • Reporter: गौरव, कुल्लू

कुल्लू जिला परिषद अध्यक्ष रोहिणी चौधरी ने शिमला में सीएम जयराम ठाकुर से मुलाकात कर सैंज घाटी को पर्यटन की दृष्टि से विकसित करने के लिए सड़क का निर्माण करने की मांग रखी। घाटी की उपरी पहाडियों को जोडने वाली धाउगी-देहुरी-शांघड सडक को बनवाने की मांग करते हुए कहा कि इस सड़क के बनने से घाटी के पर्यटन को पंख लगेगें। फिलहाल सैंज घाटी को लारजी-सैंज-न्युली सड़क जोड़ती है। लेकिन घाटी के धाउगी, देहुरी, सराहन, दलोगी, बनोगी, सुचेहण और शांघड जैसे मनमोहक पर्यटन स्थलों को जोड़ने के लिए नई सड़क का बनाया जाना अति आवश्यक है। जिला परिषद अध्यक्ष ने कहा कि सैंज घाटी में पर्यटन की आपार संभावनाएं हैं। सडकों के आभाव से ना पर्यटक यहां पहुंच पा रहे हैं और ना ही स्थानीय युवाओं को रोजगार के अवसर मिल रहे हैं। उन्होंने सीएम से इस सड़क को प्राथमिकता के आधार पर बनाने की मांग रखी है।

सीएम ने कहा कि अनछुए पर्यटन स्थलों को विकसित करने के लिए सरकार कई योजनाएं चला रही है। 'नई राहें, नई मंजिले' योजना के तहत पर्यटन में पिछडे़ क्षेत्रों को विकसित किया जा रहा है। उन्होंने धाउगी-देहुरी-शांघड सडक को बनाने का भरोसा दिया है। इस मौके पर जिला भाजपा के उपाध्यक्ष ओमप्रकाश ठाकुर भी उपस्थित रहे। रूपी रैला और सराज क्षेत्र को विकसित करने की आवश्यकता जिला परिषद अध्यक्ष रोहिणी चौधरी ने कहा कि सैंज घाटी में पर्यटकों को लुभाने के लिए आपार ख़ज़ाना है।

रूपी रैला के पर्यटन स्थल, लक्ष्मी नारायण मंदिर, आशापुरी मन्दिर, प्राचीन धल्यारा कोठी, भाटकण्डा का मैदान, रयलु थाच, रिडिवन, रूपी रैला बाटर फॉल और घाटी के सराज का शाघड़ मैदान, पुंडीर की दलोगी झील, मनु महाराज मन्दिर, दुर्गा भगवती मन्दिर को धार्मिक पर्यटन की दृष्टि से जोडने की आवश्यकता है। उन्होंने मुख्यमंत्री जयराम ठाकर को अवगत करवाया है कि सैंज घाटी प्राकृतिक सौन्दर्य से भरपूर है और साथ ही इस घाटी में विश्व धरोहर साईट ग्रेट हिमालयन नेशनल पार्क भी है।

इसके अलावा देश को रोशन करने वाली पार्वती जल विद्युत परियोजना और हिमाचल प्रदेश पावर कॉरपोरेशन की जल विद्युत परियोजनाएं प्राकृतिक सौंदर्य और बेमिसाल इंजिनियरिंग का खुबसूरत नमुना पेश करती है। पर्यटक इस तरह के मिश्रण को देखने के लिए भी दूर-दूर से आ रहे हैं। पर्यटकों को यहां मुलभूत सुविधाएं नहीं मिल पा रहा है। इस घाटी को पर्यटन की दृष्टि से उभरना आवश्यक है। जिला परिषद अध्यक्ष ने बताया है कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने इन सैंज घाटी में पर्यटन की दृष्टि से उभारने का पूर्ण आश्वासन दिया है।