हिमाचल विधानसभा का मॉनसून सत्र शुरू, शोकोदगार से शुरू हुई सदन की कार्यवाही

  • 19 Aug 2019
  • Reporter: पी. चंद. शिमला

हिमाचल विधानसभा का मॉनसून सत्र दोपहर 2 बजे से शुरू हो गया। सदन की कार्यवाही पण्डित शिव लाल , चौधरी विद्या सागर व शिव कुमार उपमन्यु के निधन पर शोकोदगार से शुरू हुई। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने मंडी के चच्योट से विधायक रहे पंडित शिव लाल को याद किया और कहा कि आज तक के चुनाव में सिर्फ शिव लाल से ही वह सबसे कम 3500 वोटों से जीते। 80 वर्षीय शिव लाल 1985 से 90 तक हिमाचल विधानसभा में सदस्य रहे। चौधरी विधा सागर कांगड़ा 1982 , 85 , 90 व 1998 में विधायक रहे जिंसमे एक बार राज्य स्वास्थ्य मंत्री रहे साथ में 1998 में कृषि मंत्री रहे। उनका ओबीसी समाज के लिए बहुत सम्मान था उन्होंने इस बिरादरी के लिए बहुत काम किया।

मुख्यमंत्री ने हिमाचल के पूर्व कैबिनेट मंत्री पंडित शिव कुमार उपमन्यु के निधन पर शोक व्यक्त किया। 92 वर्षीय उपमन्यु सरकारी नोकरी में रहने के बाद 1977 में चम्बा के भटियात से पहली बार हिमाचल विधानसभा पहुंचे 1982 में दूसरी बार जीते व  उद्योग मंत्री बने। 1990 में तीसरी बार विधानसभा सदस्य बने। केंद्रीय मंत्री रही बीजेपी की तेज तर्रार नेता सुषमा स्वराज व दिल्ली की मुख्यमंत्री रही शीला दीक्षित के निधन पर भी मुख्यमंत्री ने शोक व्यक्त किया। भारी बारिश की वजह से हिमाचल में हुई मौतों पर भी दुःख व्यक्त किया व उनकी आत्मा की शांति की प्रार्थना की।

विपक्ष के नेता मुकेश अग्निहोत्री ने भी सभी नेताओं के आकस्मिक निधन पर शोकोदगार व्यक्त किया व संतप्त परिवारों के प्रति संवेदनाएं व्यक्त की। साथ ही प्रदेश में विभिन्न दुर्घटनाओं में  मारे गए लोगों के प्रति भी दुःख ज़ाहिर किया। इसके अलावा स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार, सीपीआईएम ठियोग के विधायक राकेश सिंघा, कांग्रेस के विधायक सुखविंदर सिंह सुक्खू ने भी शोकोदगार में अपने आप को शामिल किया। विक्रम जरियाल ने दो वर्ष पूर्व मृत्यु को प्राप्त हुई चम्बा की रानी पदमा देवी के निधन पर शोक व्यक्त किया। चम्बा की पहली महिला विधायक रही। सदन दो साल पहले किसी कारणवश उनको याद नही कर पाया था। 2013 में हिमाचल विधानसभा में उनको जीवन पर्यंत बेहतर सेवाओं के लिए सम्मानित भी किया गया था।