सात मानदंडों के आधार पर जुलाई के पहले हफ्ते घोषित होगा 10वीं का रिजल्ट

  • 08 Jun 2021
  • Reporter: मृत्युंजय पुरी

हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड द्वारा 7 मानदंडों के अंतर्गत दसवीं के परीक्षार्थियों का परीक्षा परिणाम तैयार किया जाएगा। इन 7 मानदंडों में अंतर्गत नवीं कक्षा, प्रैक्टिकल, इंटरनल असेस्मैंट, फस्ट व सैकेंड टर्म इग्जाम, प्री-बोर्ड व ङ्क्षहदी का पेपर जो बोर्ड द्वारा ले लिया गया है, का मूल्यांकन करवाकर, का आंकलन कर विद्यार्थियों का परीक्षा परिणाम घोषित किया जाएगा। 

हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष डा. सुरेश कुमार सोनी ने 7 मानदंडों के आधार पर दसवीं के परीक्षार्थियों का रिजल्ट तैयार करने के लिए बोर्ड के अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक में अक्षय सूद, सचिव हि.प्र. स्कूल शिक्षा बोर्ड उपस्थित थे। बोर्ड द्वारा प्रैक्टिकल परीक्षाओं का संचालन पूर्व में करवाया गया था तथा विद्यालयों से प्रैक्टिकल एवं आंतरिक मूल्यांकन के अंक बोर्ड को प्राप्त हो चुके हैं। हिंदी पेपर की उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन करवाया जाएगा। विद्यार्थियों को प्रमोट करने के लिए मानदंड तैयार करते समय सत्र एवं व्यापक मूल्यांकन को ध्यान में रखा गया है। 

उन्होंने कहा कि संबंधित विद्यालयों के प्रिंसीपलों/मुख्याध्यापकों की अध्यक्षता में परिणाम सारणीकरण समिति का गठन किया जाएगा, जो निर्धारित 7 मानदंडों के अनुसार परीक्षा परिणाम तैयार करेगी तथा बोर्ड द्वारा उपलब्ध करवाए गए ऑनलाइन लिंक के माध्यम से अंक अपलोड करेगी। बोर्ड ऑनलाइन कोडिंग माड्यूल तैयार करेगा। उस मॉडयूल में सभी स्कूलों के विद्यार्थियों का डाटा अपलोड किया जाएगा। जो परीक्षार्थी इस असैस्मेंट से संतुष्ट नहीं होंगे, कोविड के हालात ठीक होन के बाद उन्हें पेपर देने का मौका दिया जाएगा।

12वीं के लिए सीबीएसई के क्राइटीरिया का इंतजार

12वीं के स्टूडेंटस को भी प्रमोट किया जाना है, क्योंकि सरकार ने परीक्षा रद कर दी है। सीबीएसई और हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड के जमा दो की परीक्षा रद हो गई है। उसके लिए भी एक बड़ा ऑब्जेक्टिव क्राइटीरिया बनेगा, जो कि थोड़ा भिन्न होगा और इसके लिए मानदंड बढ़ाए जा सकते हैं। उसके मानदंडों में से किनमें एसेस्मेंट दी जाएगी, उसके बारे में विचार किया जा रहा है। इससे पहले स्कूल शिक्षा बोर्ड जमा दो के लिए सीबीएसई के क्राइटेरिया का इंतजार करेगा कि उसमें कौन से मानक व मानदंड रहेंगे, उसके उपरांत ही स्कूल शिक्षा बोर्ड उसे नोटिफाई करना है, लेकिन काम शिक्षा बोर्ड का चल रहा है, उस पर काम किया जा रहा है। सीबीएसई क्राइटीरिया आने के बाद उसे पढक़र हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड का भी क्राइटीरिया नोटिफाई करेंगे।