ऊना कॉलेज की गोल्डन जुबली को लेकर तेज हुई सियासत, नेता विपक्ष ने कार्यक्रम को भगवाकरण करने का जड़ा आरोप

  • 05 Dec 2018
  • Reporter: रविंदर, ऊना

डिग्री कालेज ऊना के 50 साल पूरे होने पर आयोजित होने बाले गोल्डन जुबली कार्यक्रम पर सियासत तेज़ हो चली है। 5 और 6 दिसंबर को होने वाले इस समारोह को लेकर नेता विपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने इस कार्यक्रम के भगवाकरण करने का आरोप लगाया है। वहीं, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने नेता विपक्ष द्वारा कार्यक्रम का निमंत्रण ठुकराए जाने का आरोप लगाकर कांग्रेस नेताओं के रवैये पर सवाल खड़े किये हैं।

ऊना कॉलेज के होने वाले गोल्डन जुबली कार्यक्रम को लेकर राजनितिक पारा तेज़ी से चढ़ता जा रहा। कॉलेज के 50 साल पूरे होने पर आयोजित हो रहे इस कार्यकर्म में तमाम नए और पुराने विद्यार्थियों को भी निमंत्रण दिया गया है और ओल्ड स्टूडेंट्स एसोसिशन भी एक अहम भूमिका निभा रही है। इस समारोह का शुभारंभ शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज करेंगे। वहीं, समारोह के दूसरे दिन सीएम जयराम ठाकुर बतौर मुख्यातिथि समारोह में शिरकत करेंगे।  इस कार्यक्रम में कॉलेज से निकले राजनीतिज्ञों सहित सभी अहम लोगों को बुलाया गया है।

गौरतलब है कि इस कॉलेज से बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सतपाल सत्ती और नेता विपक्ष मुकेश अग्निहोत्री सहित कई बड़ी हस्तियाँ पढ़कर निकली हैं और जब इतने बड़े सियासी लोग यहाँ से आते हों तो सियासी तड़का कैसे पीछे रह सकता था? खैर इस सियासी तड़के की खुशबू इस कार्यक्रम के आयोजन में भी महसूस की जा सकती है। हुआ यूं कि प्रदेश के नेता विपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने इस कार्यक्रम में कांग्रेसी नेताओं को नहीं बुलाये जाने का दावा कर कार्यक्रम के भगवाकरण किये जाने का आरोप लगाया। 

नेता विपक्ष के इस आरोप पर बीजेपी के तेवर लाल हो गए हैं। सत्ताधारी बीजेपी नेता विपक्ष के इस आरोप के बाद कांग्रेस पर हमलावर हो गई। बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सतपाल सत्ती ने नेता विपक्ष मुकेश अग्निहोत्री और ऊना सदर विधायक सतपाल रायज़ादा पर कार्यक्रम के निमंत्रण को ठुकराए जाने का आरोप लगाकर उलटे कांग्रेस नेताओं को ही कटघरे में खड़ा कर दिया है। सत्ती ने कहा कि भ्रम फैलाना मुकेश अग्निहोत्री की पुरानी आदत है।